Uttar Pradesh Fire Service
Government Of Uttar Pradesh

Last Updated: 15thJULY 2019

Frequently Asked Questions

अनापत्ति प्रमाण-पत्र के ऑनलाइन आवेदन हेतु http://upfireservice.gov.in के माध्यम से आवेदन किया जाता है।

वर्तमान में उ0प्र0 फायर सर्विस द्वारा कुछ विषेश श्रेणियॉं जैसे-विद्यालय, होटल, उद्योग, अपार्टमेन्ट हाउस एवं मिक्स श्रेणी के अनापत्ति प्रमाण-पत्रों के आवेदन निवेश-मित्र सिंगल विड़ों के माध्यम से लिए आवेदित किये जा रहे हैं।

वर्तमान में उद्यमियां/होटल/विद्यालयां आदि संचालको को अनापत्ति प्रमाण-पत्रां के निर्गमन में धन/समय की क्षति को रोकने के लिए उ0प्र0 षासन एवं विभागों के वरिश्ठ अधिकारियों द्वारा एकल खिड़की की व्यवस्था की गयी है, जिसे निवेष-मित्र की संज्ञा दी गयी है, इसमें रजिस्ट्रेषन की प्रक्रिया को ई-मेल आईडी एवं मोबाइल नम्बर के माध्यम से पूर्ण की जाती है।

अग्निषमन विभाग में आवेदन के दौरान आवेदक को निम्न दस्तावेजों की आवष्यकता रहती है- 1. आधार कार्ड/पैनकार्ड की छायाप्रति। 2. जमीन से सम्बन्धित प्रपत्र- खसरा/प्लाट नं0 के अंकन हेतु। 3. भवन के मानचित्र। 4. विभाग के पोर्टल पर पड़े प्रारूप-च

ऑनलाइन आवेदन के समय उक्त सम्बन्ध में एनबीसी-2016 में चार्ट उपलब्ध है, जिसके माध्यम से आप अपने प्रष्नगत भवन की श्रेणी एवं उपश्रेणी का निर्धारण कर सकते हैं।

भवन के मानचित्र को अपलोड करते समय उसकी स्कैन कॉपी पीडीएफ फारमैट में अधिकतम 1 एमबी निवेष मित्र के बेब-पोर्टल पर एवं 2 एमबी फायर सर्विस के साधारण बेब पोर्टल पर अपलोड की जा सकती है, उससे अधिक होने पर (ERROR) का संकेत आता है।

यदि आपके द्वारा औपबन्धिक अनापत्ति प्रमाण-पत्र हेतु आवेदन किया जा रहा है, तो एनबीसी -2016 के पार्ट-4 के अन्तर्गत दिये गये चार्ट में अंकित अग्निषमन सुरक्षा/व्यवस्था के अनुसार अग्निषमन सुरक्षा/व्यवस्था का निर्धारण किया जाता है।

मानचित्र को अपलोड करते समय मानचित्र के विधिवत् अध्ययन करने पर ज्ञात होता है कि आर्केटेक्ट द्वारा आपके प्रष्नगत भवन के मानचित्र में उपरोक्त सभी प्लानों का अंकन किया गया है, जिनका विस्तृत विवरण निम्नवत् हैः- 1. की-प्लानः- प्रष्नगत भवन की यथास्थिति (चिन्हाक्न), पहुंच मार्ग की स्थिति एवं आस-पास के भूखण्डों के निर्धारण का विवरण। 2. साइट प्लानः-प्रष्नगत भवन कितने चौड़े मार्ग पर स्थित है, प्रवेष द्वार/निकास मार्ग, कुल आच्छादित/खाली क्षत्रे का चित्रांकन एवं सैटबेक का विवरण ही साइट प्लान कहलाता है। 3. सैक्शन प्लानः- प्रष्नगत भवन की ऊंचाई एवं झीनों का विवरण मय चौड़ाई ही सेक्षन प्लान कहलाता है। 4. फायर फाइटिंग प्लानः- प्रष्नगत भवन का एनबीसी-2016 के अनुसार निर्धारण कर उसमें अधिश्ठापित होने वाली अग्निषमन सुरक्षा व्यवस्थाओं का चित्रण करना ही फायर फाइटिंग प्लान कहलाता है। 5. फ्लारे वाइज प्लानः- प्रष्नगत भवन के विभिन्न तलां की ढांचागत संरचना जैसे-कमरे, झीना, कोरीडोर, निकास मार्ग एवं लिफ्ट इत्यादि का बिन्दुषः विवरण ही फ्लोर वाइज प्लान कहलाता है। 6. फ्रन्ट एलिवेषनः- प्रष्नगत भवन के अग्रभाग की ढांचागत संरचना की यथास्थिति का निर्धारण ही फ्रन्ट एलिवेषन कहलाता है। 7. प्रोजैक्ट रिपोर्टः- यदि प्रष्नगत भवन औद्योगिक श्रेणी का है तो उसके अन्दर बनने वाले एवं उपयोग होने वाले पदार्थों का विवरण, अग्निषमन सुरक्षा व्यवस्था का विवरण एवं उनकी श्रेणी का सार ही प्रोजेक्ट रिपोर्ट है। उपरोक्त सभी को क्रमवार अपलाडे कर आवेदन के अगले चरण में पहुंचा जा सकता है।

आपके भवन में स्थापित अग्निषमन सुरक्षा/व्यवस्था को सूचीवार क्रमबद्ध कर आवेदन के विभिन्न चरणों में पूछे जाने वाले बिन्दुओं में अंकित किया जाता है।

अग्निषमन विभाग में अनापत्ति प्रमाण-पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन एक निःषुल्क प्रक्रिया है।

अग्निषमन विभाग के बेब पोर्टल पर मैसर्स के मालिक/प्रबन्धक द्वारा बनाये गये ई-मेल आईडी एवं पासवर्ड को प्रविश्ट कर अनापत्ति प्रमाण-पत्र को प्राप्त कर सकते हैं।

आपके द्वारा ऑनलाइन आवेदन के दौरान बेब पोर्टल पर प्रविश्ट किये गये ईमेल आईडी/मोबाइल नम्बर पर एसएमएस के माध्यम से सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त होती है।